ये कर लिया तो FAT LOSS होने से कोई नहीं रोक पाएगा

क्या आपको हमेशा कुछ ना कुछ अलग तरह की चीजें खाने का मन करता रहता है वह कुछ भी हो सकता है जैसे कोई चॉकलेट कोई पेस्ट्री मिठाइयां समोसा पिज्जा बर्गर कुछ भी। दोस्तों वैसे तो थोड़ी बहुत जंक फ़ूड खाने की इक्छा होना नेचुरल है लेकिन क्या आपकी ये आदत इतनी ज्यादा बढ़ती जा रही है कि आपका वजन (weight) बढ़ने लगा है अगर हां तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए क्योंकि आज मैं आपसे शेयर करूंगा वो 6 तरीके जिससे आपकी फूड क्रेविंग्स (कुछ भी खाने की इच्छा) कम हो जाएंगी और यही नहीं, मैं आपसे शेयर करूंगा एक मैजिकल ट्रिक जिसे मैंने खुद काफी बार आजमाया है जिससे कि आपकी फूड क्रेविंग्स (कुछ भी खाने की इच्छा) 30 सेकंड में बिल्कुल खत्म हो जाएंगे थोड़ी देर के लिए उस चिप्स के पैकेट को दूर रख दीजिए और शुरू करते हैं ये तरीके। 

पहला तरीका है Drink Water First –

अक्सर हमारा माइंड कंफ्यूज हो जाता है कि हमें भूख लगी है या फिर हम सिर्फ डीहाइड्रेटेड हैं तो अगली बार अगर आपको ऐसी अनहेल्दी फूड क्रेविंग्स हो तो सबसे पहले एक गिलास पानी पियें। सामान्यतः जब आप पानी पिएंगे तो आपकी थोड़ी भूख वैसे ही कम हो जाएगी। तो पहले आप इंतज़ार करें और उसके बाद फैसला लें कि आपको वह चीज खाने का मन है या नहीं। इससे 10 में से नौ बार आपकी क्रेविंग्स (कुछ भी खाने की इच्छा) खत्म हो चुकी होंगी।

क्रेविंग्स को फाइट करने का दूसरा तरीका है Eat More Protein –

क्या आपने कभी नोटिस किया है कि जिस दिन आपने ब्रेकफास्ट में पनीर खाया था उस दिन आपको लंच से पहले तक भूख ही नहीं लगी ऐसा इसलिए क्योंकि पनीर प्रोटीन से भरपूर होता है और प्रोटीन आपकी क्रेविंग्स (कुछ भी खाने की इच्छा) को बहुत जल्दी खत्म कर सकता है। कैसे? क्योंकि प्रोटीन एक ऐसा माइक्रोन्यूट्रिएंट है जिसको ब्रेकडाउन करना काफी मुश्किल होता है। जब आप प्रोटीन से युक्त चीजें खाते हैं तो आपका डाइजेस्टिव सिस्टम उसको ब्रेकडाउन करने में ही लग जाता है और आप किसी और चीज के लिए क्रेव (लालसा) ही नहीं कर पाते। तो आप प्रयास करें कि आपके हर भोजन में थोड़ा-बहुत प्रोटीन जरूर हो। पनीर, टोफू, राजमा, छोले, चने, बेसन, सत्तू, सभी दाले ये अच्छे वेजीटेरियन (शाकाहारी) प्रोटीन सोर्सेस हैं। अगर आप नॉन वेजिटेरियन (मांसाहारी) हैं तो आप अंडे, चिकन ब्रेस्ट और मछलियों को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं क्रेविंग्स (कुछ भी खाने की इच्छा) को कम करने का यह काफी फैक्ट तरीका है। 

तीसरा है Avoid Getting to Hungry (भूखे रहने से बचें) – 

जब हमें बहुत ही ज्यादा भूख लगी होती है तो हमारा दिमाग अनियंत्रित हो जाता हैं उस टाइम पर हमारी फूड क्रेविंग्स (कुछ भी खाने की इच्छा) मैक्सिमम पर होती हैं ऐसे में यह होता है कि फिटनेस गयी भाड़ में अब तो पिज़्ज़ा ऑर्डर करो छोले भटूरे, बर्गर कुछ भी मतलब खाओ और सिर्फ खाओ। दोस्तों इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप अपनी बॉडी को कभी भी स्टार्वेशन मोड (भूख की अवस्था) में न आने दें। वह कैसे होगा? वह तब होगा जब आपकी डाइट में फाइबर भरपूर मात्रा में हो इसके लिए सबसे पहले तो रिफाइंड ग्रेन जैसे से की मैदा को छोड़ होल ग्रेन खाना शुरू करें। होल व्हीट, ओट्स, बेसन, स्वीट पोटेटो, होलव्हीट ब्रेड में काफी फाइबर होता है। बाकी अब दो टाइम के खाने जैसे ब्रेकफास्ट और लंच, तथा लंच और डिनर के बीच में फ्रूट जरूर खाएं फ्रूट्स में भी काफी फाइबर होता है और मीठी होने की वजह से यह हमारी सूगर क्रेविंग्स (चीनी युक्त खाने की इच्छा) को भी शांत करते हैं। इसलिए आप यह दो साधारण नियम अपने ऊपर लागू करें ताकि आप कभी भी भूखा महसूस न करें और अपनी फूड डिजायर को लेकर अनकंट्रोलेबल ना हो जाएँ।

चौथा है Get Enough Sleep (पर्याप्त नींद लें) –

दोस्तों यह बात साबित हो चुकी है कि जो लोग कम सोते हैं या जो लोग हमेशा सुस्ती (लेथार्जिक) महसूस करते हैं उन्हें फूड क्रेविंग (कुछ भी खाने की इच्छा) ज्यादा होती हैं क्योंकि उनकी बॉडी हमेशा थकान महसूस करती है तो उन्हें कुछ ना कुछ चाहिए एनर्जी के लिए ऐसे लोग अक्सर सूगर क्रेविंग्स (Sugar Cravings) के शिकार होते हैं इसलिए अगर आप रात को 7-8 घंटे की गहरी नींद लेना शुरू कर दें तो आप देखेंगे कि आप की जंग फूड क्रेविंग्स एकदम से ही 50 प्रतिशत तक कम हो जाएगी। सोने के लिए रात को 10:00 से 5:00 का टाइम बेस्ट होता है देर रात तक जागेंगे तो फिर से कुछ उल्टा सीधा ही खाएंगे। 

पांचवा है उच्च तनाव (Hypertension) – 

तनाव से तृष्णा पैदा होती है। जब हम बहुत ज्यादा तनव में होते हैं तब उस वक्त हमारा मन करता है मीठे खाने का। चॉकलेट खाने का, या और भी कई प्रकार की मीठी चीजें खाने का। और हम कुछ भी खा कर अपने मन को डायवर्ट करते हैं। क्या इस चिज पर आपको थोड़ा कंट्रोल करना चाहिए। क्योंकि तनाव (Stress) को ख़त्म करने के और भी बहुत से तारिके हैं। आप बहार जाकर वॉक कर सकते हैं, थोड़ी रनिंग कर सकते हैं, अपने किसी करीबी को कॉल कर सकते हैं, प्रकृति को एन्जॉय कर सकते हैं या खुद के साथ थोड़ा समय बिता सकते हैं  या जो भी आपका मन करे।

छठवां है Psychologically you have to be strong (मनोवैज्ञानिक रूप से आपको मजबूत होना होगा) –

अगर आपको वजन घटाना है, तो कोई भी और फिटनेस लक्ष्य हासिल करना है तो आपको मानसिक रूप से मजबूत होना पड़ेगा। थोड़ा सोचना चाहिए कि आगर मैं पिज्जा बर्गर लगातार खाता रहूँगा तो आज से 6 महीने बाद या एक साल बाद कैसा दिखूंगा। वहीं दूसरी तरफ अगर मैंने नियमित रूप से एक्सरसाइज किया अच्छी डाइट ली तो मेरी बॉडी शेप में आ जाएगी।  किसी ने बड़ी अच्छी बात कही है की अगर जंक फूड छोड़ने का कारण चाहिए तो शर्ट उतारके मिरर (दर्पण) के सामने खड़े हो जाओ। अपनी मोटिवेशन खुद ढूंढो और बस उसके पीछे लग जाओ। 

मेरा मनाना है की मनोवैज्ञानिक कारण सबसे बड़ा कारण है क्योंकि आपको लगता है कि आप कर लोगे तो आप कर ही लोगे। मैं अगर अपनी पर्सनल स्टोरी शेयर करूँ तो एक टाइम था जब मैं खुद बहार की चीजें और जंक फूड खाने लगा था और जाहिर सी बात है कि जंक फूड खाने से मुझे कोई रिजल्ट तो मिलाने नहीं थे बस मेरा दिमाग थोड़ी देर के लिए खुश हो जाता था। लेकिन जब मैंने स्वस्थ जीवनशैली को अपनाया तो मेरी बॉडी शेप में आने लगी  और यह मेरे लिए अब एक मोटिवेशन बन गया था। अब तो मेरा जंक फूड खाने का मन ही नहीं करता I enjoy eating healthy food. और अगर कोई सोचता है कि हेल्थी भोजन स्वादिष्ट नहीं होता तो मैं नहीं मानता अगर कोई पेस्ट्री खा रहा है तो हम Banana Peanut Butter Sandwich, दलिया, स्प्राउट्स या कुछ हेल्दी चीजें खा सकते हैं यह हेल्थी तो होता ही है और स्वादिष्ट भी। और इसलिए कहीं जाते वक्त हमेशा अपने साथ एक हेल्थी स्नैक्स बैकअप जरूर रखना चाहिए।  

दोस्तों बाकी क्रेविंग 10 मिनट की होती हैं अगर अपने माइंड को 10 मिनट के लिए स्ट्रांग रख लिया तो आपकी क्रेविंग चली जाएंगी ओके अब आता है फन पार्ट, मैंने आपको कहा था कि मैं आपसे एक ऐसी ट्रिक शेयर करूंगा जिससे आपकी फ़ूड क्रेविंग्स 30 सेकंड में हमेशा के लिए खत्म हो जाएंगी “बोस्टन में एक्सपेरिमेंट हुआ था ओवरवेट लोगों के ऊपर अगर आप अपने फोरहेड को लगातार 30 सेकेंड के लिए टैप करेंगे तो आपकी फूड क्रेविंग्स ऑटोमेटिकली गायब हो जाएंगी, सुनने में अजीब लग रहा है लेकिन सच में बहुत इफेक्टिव है मैं खुद हैरान हो गया था और उसके बाद मैंने इस तकनीक को काफी लोगों पर सक्सेसफुली ट्राई किया आप भी जरूर ट्राई करके देखना और मुझे बताना। दोस्तों फाइनली मैं आपसे शेयर करना चाहता हूं इस चार्ट को जिससे आप अपनी फूड क्रेविंग्स को और भी आसानी से मैनेज कर पाएंगे। बाकी सिंपल फंडा है जंक फूड बनाया ही इस तरह से जाता है कि इसका एडिक्शन हो जाए इसलिए जितना दूर रहोगे उतना ही आसानी से छूटेगा।

धन्यवाद!

मनीष यादव

Leave a Comment

Share via