7 पोषक तत्वों का विज्ञान | Science Of 7 Nutrients

Science of 7 nutrients
Science of 7 nutrients

7 पोषक तत्व | 7 Nutrients

वैसे हमारे शरीर के लिए 7 पोषक तत्व ( 7 Nutrients ) पानी, कार्बोहाइड्रेट, फैट, प्रोटीन, विटामिन, मिनरल और फाइबर हैं। इन 7 पोषक तत्वों ( 7 Nutrients ) का हमारे शरीर में सही संतुलन ही हमारे स्वस्थ्य की पहचान है। पोषक तत्व खाद्य पदार्थों के ऐसे घटक है जिजका मनुष्य व अन्य जीव जंतु जीवित रहने व विकास के लिए उपयोग करते हैं। जिन पोषक तत्वों की आवश्यकता हमेँ अधिक मात्रा में होती है, वे मेक्रोन्यूट्रिएंट्स कहलाते हैं और जिनकी बहुत कम मात्रा में आवश्यकता पड़ती है उन्हें माइक्रोन्यूट्रिएंट्स कहते है। मेक्रोन्यूट्रिएंट्स हमारे मेटाबॉलिक सिस्टम के कार्य के लिए आवश्यक ऊर्जा प्रदान करते हैं। हमारा पाचन तंत्र ऊर्जा के लिए मेक्रोन्यूट्रिएंट तत्वों के विभाजन का कार्य करता है। दूसरी ओर, अधिकांश माइक्रोन्यूट्रिएंट्स मेटाबॉलिज्म के लिए आवश्यक सह कारक (को-फैक्टर) प्रदान करते हैं और बीमारियों से सुरक्षा व विभिन्‍न शारीरिक प्रक्रियाओं को नियमित करने के लिए उपयोगी होते हैं। शरीर में मेटाबॉलिज़्म / (चय-पचय) और एनाबॉलिज़्म (रचनात्मक संश्लेषण), दोनों के लिए माइक्रोन्यूट्रिएंट्स उपयोगी होते हैं। ये दोनों प्रकार के पोषक तत्व आहार से प्राप्त किये जा सकते हैं।

कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन व फैट ही वे मेक्रोन्यूट्रिएंट्स हैं जिन्हें हमें आहार में अपेक्षाकृत अधिक मात्रा में खाने की ज़रूरत है। ये शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के साथ-साथ हमारे शरीर के विकास के लिए बिल्डिंग ब्लॉक भी होते हैं तथा शरीर को स्वस्थ स्खने में भी मदद करते हैं। मेक्रोन्यूट्रिएंट्स भोजन से ऊर्जा के उत्पादन को नियमित रखने के लिए विटामिन और मिनरल तत्वों पर निर्भर होते हैं। 

पोषक तत्व (न्यूट्रिएंट्स) कैसे काम करते है? 

हमार पाचन तंत्र भोजन से पोषक तत्वों का अवशोषण करता है। पोषक तत्व कोशिकाओं की वृद्धि, रख-रखाव और मरम्मत के लिए आवश्यक डोते हैं। यह हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान कर कुशलतापूर्वक कार्य करने के लिए सक्षम बनाते हैं। पोषक तत्व, फायबर व जल का तालमेल हमारे अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। पोषक तत्व अकेले भी काम कर सकते हैं लेकिन अधिक प्रभावी होने के लिए यह एक-दूसरे पर निर्भर होते हैं। 

विटामिन और मिनरल ही वे माइक्रोन्यूट्रिएंट्स हैं जिनकी हमें बहुत कम मात्रा में आवश्यकता पड़ती है परंतु ये हमारे स्वास्थ्य के लिए अत्यंत आवश्यक हैं। कुछ खाद्य पदार्थों के घटक जैयें जल व फायबर पोषक तत्व तो नहीं हैं लेकिन स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। पोषक तत्वों कें प्रभाव उनकी मात्रा पर निर्भर करते हैं तथा इनका अभाव पोषक तत्वों की कमी और उससे होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है। 

कार्बोहाइड्रेट व फैट आदि मेक्रोन्यूट्रिएंट्स शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के लिए विघटित डोते हैं व प्रोटीन के अवशोषण में सहायता करते हैं। 

प्रोटीन कोशिकाओं की मरम्मत व वृद्धि के लिए आवश्यक बिल्डिंग ब्लॉक प्रदान करते हैं। 

फैट्स ऊर्जा के सघन स्रोत हैं तथा ये आवश्यक फैटी एसिड प्रदान करते हैं जिनकी हमारे शरीर में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। 

विटामिन जैविक पदार्थ होते हैं जो एंजाइमों का सक्रिय करते हैं। एंजाइम ऐसे प्रोटीन होते हैं जो उत्प्रेरक के रूप में शरीर में होने वाली जैविक प्रतिक्रियाओं की गतिशीलता बढ़ाने में सहायक होते हैं। हमारे शरीर में कुछ मात्रा में विटामिन ‘डी’ और ‘के’ का उत्पादन होता है लेकिन अन्य सभी विटामिन हमें आहार या सप्लीमेंट के द्वारा प्राप्त होते हैं।

मिनरल अजैविक पदार्थ होते हैं जो चट्टानों व अयस्कों में उपलब्ध होते हैं। मिनरल तत्वें से समृद्ध मिट्टी में उगे पौधों को खाने से या इन पौधों का खाने वाले जानवरों से प्राप्त खाद्य पदार्थों से हमें मिनरल प्राप्त होते हैं। कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फेोस्स, आदि मिनरल हड्डियों के प्रमुख घटक हैं। सोडियम और पोटेशियम हमारे शरीर में जल के संतुलन के नियंत्रण में सहायक होते हैं। कुछ अन्य मिनरल (क्रोमियम, आयरन व मैग्नीशियम) शरीर में विभिन्न रासायनिक प्रक्रियाओं के लिए आवश्यक हैं| 

एंटीऑक्सीडेंट्स – कुछ पोषक तत्व एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करते हैं व हानिकारक रसायनों व यौगिकों (फ्री-रेडिकल्स) से कोशिकाओं की रक्षा करते हैं। 

कई कारणों से हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी इन सभी पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन से भी हमें पूरा लाभ नहीं मिलता है क्योंकि शरीर में आहार से इन सभी पोषक तत्वों का 100% अवशोषण नहीं हो पाता। बढ़ती उम्र, खराब स्वास्थ्य, खान-पान संबंधित बुरी आदतें, व्यायाम या सक्रियता की कमी व रोगों से ग्रसित होना, आदि पोषक तत्वों के ठीक से अवशोषित न होने के विभिन्‍न कारण हैं। हमारे भोजन में भी कई अवशेधक तत्व होते हैं, जो पाचन तंत्र से विभिन्न पोषक तत्वों के अवशोषण को बाधित करते हैं। प्रोसेसिंग व खाना पकाने या बार-बार गर्म करने के दौरान भी खाद्य पदार्थों में मौजूद कई पोषक तत्व नष्ट हो सकते हैं। इसलिए अधिकांशत: हमारे आहार से हमें शारीरिक कार्यों को करने के लिए जरूरी विभिन्न पोषक तत्व अपर्याप्त मात्रा में ही मिल पाते हैं। 

प्रत्येक खाद्य पदार्थ में पोषक तत्व थोड़ी बहुत मात्रा में होते हैं। लेकिन कुछ महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की हमें बहुत अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है, जिसे किसी विशेष पोषक तत्व से भरपूर किसी भी एक विशिष्ट भोजन के सेवन से पूरा नहीं किया जा सकता है। इसलिए हम समझ-बूझ से विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों के सेवन से भरी सभी पोषक तत्व प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन सभी पोषक तत्वों की दैनिक आवश्यकता को पूरा करने के लिए कई प्रकार के खाद्य पदार्थों का अतिरिक्त मात्रा में सेवन करने के कारण हमारे स्वास्थ्य पर आवश्यकता से अधिक मात्रा में आहाए लेने (ओवरईटिंग) का नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। 

उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी। आपके सवालों या सुझावों के लिए हमें इनबॉक्स अवश्य करें। और इस आर्टिकल को शेयर जरूर करें।

Leave a Comment

Share via