सेंधा नमक के फायदे | Benefit of Rock Salt

स्वास्थ्य के लिए कौन सा नमक लाभकारी है ?

स्वास्थ्य के लिए कौन सा नमक लाभकारी है ?

आइये जानते हैं आज के इस आर्टिकल में | वैसे भारत में डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर एक महामारी का रूप धारण कर चुके हैं। सफेद नमक व सफेद शक्कर का अत्यधिक सेवन इनके बढते खतरे का कारण हो सकता है। विश्व में प्रतिदिन शक्कर और नमक का सर्वाधिक सेवन भारत में ही होता है। नमक एक तरह का मिनरल होता है जो सोडियम क्लोराइड से बना होता है। सफेद नमक में 100% सोडियम होता है व सोडियम की अधिकता नुकसानदायक हो सकती है। नमक खाना बनाने में बहुत महत्वपूर्ण होता है और इसके बिना खाना स्वादरहित छो जाता है परन्तु रिफाइंड नमक के स्वास्थ्य पर कई हानिकारक प्रभाव भी हैं। इसलिए जरूरी है कि खाना बनाने व सेवन के लिए सही नमक का चुनाव किया जाए। बाजार में मुख्यतः: दो तरह के नमक उपलब्ध हैं – सफेद नमक और सेंधा नमकजहाँ सफ़ेद नमक के नुकसान बहुत हैं वही सेंधा नमक के फायदे बहुत हैं। वैज्ञानिक शोधों में पाया गया है कि सफेद नमक स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक है। इस नमक में कई तरह की अशुद्धियां पाई जाती हैं व पोटेशियम आयोडाइड और एल्युमिनियम सिलिकेट जैसे हानिकारक तत्व होते हैं। सफेद धमक कई देशों में प्रतिबंधित है। सफेद नमक का अत्यधिक सेवन हाई ब्लड प्रेशर, हृदय शेग, यूरिक एसिड, पथरी और किडनी की क्षति के खतरों को बढ़ाता है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि कई वैज्ञानिक शोधों में बताया गया है कि सफेद नमक पैरालिसिस, थायराइड व नपुंसकता जैसी समस्याओं का कारण हो सकता है। 

यह भी पढ़ें : White Sugar is a poison- Why?

सेंधा नमक

सेंधा नमक के फायदे बहुत हैं क्योंकि ये सबसे शुद्ध नमक होता है जो प्रदूषणकारी तत्वों से रहित होता है। इसमें 85% या अधिक सोडियम क्लोराइड होता है व 15% तक ट्रेस मिनरल (ऐसे मिनरल जिनकी शरीर में कम मात्रा में आवश्यकता होती है) होते है। इस 15% ट्रेस मिनरल्स में शामिल 84 तत्व शरीर का आंतरिक स्वास्थ्य अच्छा रखने में लाभदायक होते हैं। इनमें से कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स शरीर के अंगों को सुचारू रूप से काम करने में मदद करते हैं। चूंकि ज्यादातर लोगों में मिनरल्स की कमी रहती है, इसलिए रिफाइंड सफेद नमक के बजाय सेंधा नमक खाना काफी फायदेमंद हो सकता है। सेंधा नमक का सेवन पाचन तंत्र व उसके आस-पास के अंगों में पानी के अवशोषण को बढ़ाता है जिससे शरीर के लिए लाभकारी मिनरल्स व पोषक तत्व शरीर में आसानी से अवशोषित हो जाते हैं। शारीरिक कोशिकाओं के सामान्य रूप से कार्य करने के लिए जरूरी है कि रक्त में नमक की उपयुक्त मात्रा ही अवशोषित हो क्योंकि अधिक मात्रा में जमक का सेवन रक्त धमनियों को सख्व्त कर हानि पहुचाता है। जिस हवा में हम सांस लेते हैं उसमें मौज़द हानिकारक आयन्स को निकालने में सेंधा नमक मददगार है जिससे यह अस्थमा जैसी श्वसन संबंधी समस्याओं में भी फायदेमंद है। 

सेंघा नमक कम नमकीन होता है व केमिकली प्रोसेस्ड नहीं होता। सेंघा नमक के मिनस्ल्‍स से समृद्ध होने व स्वास्थ्य पर कोई हानिकारक प्रभाव जैसे हाई ब्लड प्रेशर या आंखों व शरीर में सूजन, आदि नहीं होने की वजह से यह सफेद नमक का एक अच्छा व स्वास्थ्यकारी विकल्प है। 

सेंधा नमक के फायदे – 

  • पाचन में सहायक : भूख बढ़ाये, गैस व सीने में जलन को घटाए। 
  • तत्वों के कोशिकाओं में अवशोषित होने को बढ़ावा दे, इलेक्ट्रोलाइट्स की पुन: पूर्ति करे, शरीर का pH संतुलन सही रखे, रक्त संचार व मिनरल्स के संतुलन को प्रेरित करे और जहरीले तत्वों को बाहर निकाले। 
  • फैट की मृत कोशिकाओं को शरीर से बाहर निकालने व वजन घटाने में है सहायक 
  • सेंधा नमक के पानी से गरारे करने पर गले की खराश में आरामदायक। 
  • हड्डियों को मजबूती प्रदान करें। 
  • त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाए व त्वचा की प्राकृतिक परत की रक्षा करे। त्वचा की कोशिकाओं की मरम्मत करे व उन्हें मजबूती प्रदान करें। 
  • बालों के लिए फायदेमंद। 

Leave a Comment

Share via